शेयर बाजार (Stock market):- 
शेयर बाजार एक ऐसा बाजार है जहां लिस्टेड कंपनियों के शेयरों का क्रय और विक्रय किया जाता है - दूसरे बाजारों की तरह शेयर बाजार में भी लोग एक-दूसरे से सौदा पक्का करके अपने शेयर खरीदते और बेचते 
हैं l पहले शेयरों की खरीद-बिक्री मौखिक (मुंह-जबानी)  बोलियो से होती थी l

मगर अब यह सारा लेन-देन स्टॉक एक्सचेंज के नेटवर्क से जुड़े कंप्यूटरों द्वारा होता है l
आजकल लोग अपने शेयरों की नीलामी इंटरनेट व मोबाइल द्वारा कर सकते हैं l

शेयर मंडी:- 
BSE या NSE बोलियां लगाने के लिए सुविधाएं प्रदान करती है l 
शेयर मंडिया इस काम को आसान और सुचारू रूप से चलाने के लिए कारोबारियों को मूलभूत ढांचा प्रदान करती है कुछ साल पहले मुंबई स्टॉक एक्सचेंज में कुछ पैसे वाले लोग ही खरीद बिक्री कर पाते थे l
मगर जब कंप्यूटरों और इंटरनेट ने यह सुविधा प्रदान की है l तब से आम आदमी भी शेयर खरीदने और बेचने का काम आसानी से कर सकता 
हैं l आम ग्राहक किसी डीमेट सर्विस देने वाले बैंक में अपना अकाउंट ओपन करना पड़ता है l
आजकल कई बैंक जैसे:- ICICI, HDFC, SBI और AXIS बैंक इत्यादि भी डीमेट सर्विस देते 
हैं l इस तरह के खाते का वार्षिक चार्ज 500-800 रुपए तक होता है l शेयर बाजार किसी भी देश की अर्थव्यवस्था का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता है l
जैसे:- किसी गांव शहर या देश के विकास के लिए सड़कें, रेल, यातायात, बिजली और पानी जरूरी होते हैं l उसी तरह देश के उद्योगों के विकास के लिए शेयर बाजार जरूरी है 
उद्योगों को चलाने के लिए पूंजी चाहिए होती है जो इन्हें शेयर बाजार से मिलती है l 
अगर किसी व्यक्ति को यह लगता है कि आने वाले समय में रिलायंस, टाटा मोटर्स, इंफोसिस और हिंदुस्तान पैट्रोलियम अधिक मुनाफा कमाने वाली कंपनी है तो वह इन कंपनियों के शेयर खरीद सकता है और मुनाफा कमा सकता है l डीमैट अकाउंट डीमैट अकाउंट भी बैंक अकाउंट की तरह काम करता है l
बैंक अकाउंट की तरह इसमें भी डेबिट या क्रेडिट होता 
है l सेबी के निर्देशन के अनुसार डीमेट को छोड़कर आप किसी अन्य रूप से शेयरों को खरीद या बेच नहीं सकते हैं l इसलिए अगर आपको शेयर बाजार में स्टॉक खरीदना या बेचना हो तो आपके पास डिमैट अकाउंट होना जरूरी है l

डीमेट अकाउंट कैसे काम करता है:- 
जब भी आप शेयर खरीदेंगे तो ब्रोकर डीमेट खाते में उस शेयर को क्रेडिट कर देता है और यह आपके पोर्टफोलियो में दिखने लगता है यदि आप इंटरनेट से व्यापार यानी शेयर खरीद बिक्री करते हैं तो आप अपनी पोर्टफोलियो कोऑनलाइन देख सकते हैं l 

डीमेट अकाउंट के लाभ:- 
i)  इससे आप अपने शेयर जब चाहे तब आसानी से          खरीद और बेच सकते हैं 
ii) भौतिक रूप में शेयर रखने में कोई परेशानी नहीं             होती है 
iii) हस्तांतरण पर कोई स्टांप ड्यूटी और हस्तांतरण-           विलेख आवश्यक नहीं होता है l

डीमेट अकाउंट के लिए आवश्यक दस्तावेज:-
i)   पैन कार्ड l
ii)  आधार कार्ड l
iii) इनकम प्रूफ l
iv) रद्द चैक l
v)  पासपोर्ट फोटो खाता खोलने और वार्षिक रख-              रखाव शुल्क l

ब्रोकर:- 
एजेंट एवं दलाल को ही ब्रोकर कहा जाता है l
ब्रोकर कोई व्यक्ति या फर्म हो सकती है जो निवेशक द्वारा जमा किए गए आर्डर को खरीदने और बेचने के लिए कमीशन लेता है किसी भी एक्सचेंज में व्यक्तिगत ब्रोकर एवं कॉरपोरेट ब्रोकर हो सकते हैं l स्टॉक ब्रोकर अपने स्टॉक एक्सचेंज के सदस्य होते हैं और स्टॉप का पूरा व्यापार इन्हीं के माध्यम से होता है l यही मार्केट रिसर्च करते हैं और अपने क्लाइंट के लिए इन्वेस्टमेंट एडवाइजर का काम भी करते हैं l

भारत के प्रमुख शेयर बाजार:- 
मुंबई स्टॉक एक्सचेंज व नेशनल स्टॉक एक्सचेंज भारत के दो मुख्य शेयर बाजार है l इनके अलावा देश में 27 क्षेत्रीय स्टॉक एक्सचेंज है l

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज:- 
बीएसई भारतीय शेयर बाजार के दो स्टॉक एक्सचेंजों में से एक है l यह भारत और एशिया का सबसे पुराना स्टॉक एक्सचेंज है l इसकी स्थापना 1875 में हुई थी l 

इसकी पहुंच 417 शहरों तक है l अंतरराष्ट्रीय वित्तीय बाजार में भारत को श्रेष्ठ स्थान दिलाने में बीएसपी की अहम भूमिका रही है l

बीएसई सेंसेक्स:- 
मुंबई शेयर बाजार ने सेंसेक्स की स्थापना 1986 में की l
लेकिन सेंसेक्स का आधार वर्ष 1978-79 है l सेंसेक्स में 30 कंपनियों का को शामिल किया गया है l जिनकी गणना मार्केट के कैपिटलाईजेशन वेजेज मेथाडोलॉजी के आधार पर की जाती है l आज बीएसई सेंसेक्स की भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी प्रमुख इंडेक्स में गणना होती है l 

https://www.moneyworks4me.com/best-index/bse-stocks/top-bse30-companies-list/

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज:- 
NSE भारत का सबसे बड़ा और तकनीक के आधार पर देश का पहला स्टॉक एक्सचेंज है यह मुंबई में स्थित है l इसकी स्थापना 1992 में हुई थी कारोबार के हिसाब से यह है विश्व का तीसरा सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज 
है l इसके विसेैट टर्मिनल भारत के 320 शहरों तक फैले हुए हैं l
निफ़्टी-50 इंडेक्स की शुरुआत 1996 में हुई थी l इस इंडेक्स में NSE में सूचीबद्ध शेयरों में से अलग अलग सेक्टर की 50 लाज कैप शेयरों को शामिल किया गया 
है l 

https://www.moneyworks4me.com/best-index/nse-stocks/top-nifty50-companies-list/

निष्कर्ष:-
नेशनल स्टॉक एक्सचेंज और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज दोनों भारतीय पूंजी बाजार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है रोज लाखों ब्रोकर और निवेशक स्टॉक एक्सचेंज में ट्रेडिंग करते हैं l
यह दोनों महाराष्ट्र के मुंबई शहर में स्थित है और SEBI (भारतीय प्रतिभूति और विनियम बोर्ड) से मान्यता प्राप्त है l

Plzz...Like and share

Post a Comment

Previous Post Next Post